नई दिल्लीः पिछले एक साल में टैलीकॉम सैक्टर में मची उथल-पुथल के बीच राहत की खबर है। जहां पिछले दिनों सैक्टर में हजारों लोगों की नौकरियां गईं वहीं अगले 5 साल में टैलीकॉम सैक्टर में 1 करोड़ नौकरियां मिल सकती हैं। यह बात टैलीकॉम सैक्टर स्किल काऊंसिल (टी.एस.एस.सी.) की रिपोर्ट में कही गई है।

टैलीकॉम सैक्टर स्किल काऊंसिल के सी.ई.ओ. एस.पी. कोचर ने बताया कि अभी टैलीकॉम सैक्टर में करीब 40 लाख लोग नौकरी कर रहे हैं। वहीं अगले 5 साल में यह संख्या बढ़कर 1.43 करोड़ हो जाएगी। यानी 5 साल में करीब 1 करोड़ नौकरियां और बढ़ जाएंगी। बता दें कि पिछले साल सैक्टर से करीब 40 हजार लोगों की नौकरी गई थी। वहीं अभी छंटनी का दौर अगले 6 महीनों तक जारी रहने का अनुमान है जिसमें यह संख्या बढ़कर 80 से 90 हजार तक हो सकती है।

NSDC के तहत बढ़ेगी डिमांड 
कोचर के अनुसार नैशनल स्किल डिवैल्पमैंट कार्पोरेशन (एन.एस.डी.सी.) के तहत आने वाले दिनों में जॉब की डिमांड बढ़ेगी। खासतौर से इमॄजग टैक्नोलॉजी मसलन मशीन टु मशीन कम्युनिकेशंस, टैलीकॉम मैन्युफैक्चरिंग, इंफ्रा और सॢवसेज से डिमांड बढ़ेगी। आने वाले दिनों में देश में मैन्युफैक्चरिंग एक्टीविटी बढऩे का अनुमान है जिसका सबसे ज्यादा फायदा जिन सैक्टर को मिलेगा उनमें टैलीकॉम सैक्टर भी शामिल है।

इंडस्ट्री में फिलहाल नौकरी का संकट 
प्राइसिंग वार के चलते कम्पनियों का मुनाफा घट गया है जिससे इंडस्ट्री में हजारों नौकरियां जा चुकी हैं, वहीं आगे भी 80 से 90 हजार नौकरियों पर संकट है। सी.आई.ई.एल. एच.आर. सॢवसेज द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार पिछले साल टैलीकॉम इंडस्ट्री से जुड़े 40 हजार लोग बेरोजगार हो चुके हैं। वहीं रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अगले 5-6 महीने में बड़े पैमाने पर छंटनी हो सकती है। कुल 80-90 हजार लोग बेरोजगार हो सकते हैं।